Posts

परिष्कृ्त हुआ अन्त:करण ही चमत्कारों को जन्म देता है..........

अपनी बद्धमूल धारणाओं को त्याग कर ही किसी सत्य को जाना जा सकता है!!!

आप इसे पूर्वाभास मानेंगें या कुछ ओर ?