Posts

अन्धविश्वास का फतवा देने की अपेक्षा सत्य को सामने लाने का प्रयास किया जाना चाहिए!!!!!!!

27 जनवरी के पश्चात मौसम में हल्का सा सुधार किन्तु प्रबल शीतलहर से पूर्ण मुक्ति 6 फरवरी के बाद ही.........

ज्योतिषी का अर्थ सर्वज्ञाता होना नहीं हैं.........किसी भी विषय के जानकार की भान्ती ही ज्योतिषी की भी अपनी एक सीमा होती है।

मकर संक्रान्ति----अंधकार से प्रकाश की ओर अग्रसर होने का प्रतीक पर्व

भारतीय संस्कृ्ति में कलश का महत्व..............

परिष्कृ्त हुआ अन्त:करण ही चमत्कारों को जन्म देता है..........

अपनी बद्धमूल धारणाओं को त्याग कर ही किसी सत्य को जाना जा सकता है!!!